‘बेल’ करें गर्मी को फेल!

 

दोस्तों,

कोवीड (COVID) के समय पर हम सभी ने घरेलू नुस्खों को खूब अपनाया था । अगर आप सभी को याद हो, तो हमने हल्दी का दूध पिया , अजवाइन -कपूर का एक पोटली बनाया, फिर काढ़ा गिलोय का सेवन किया और अन्य काफी चीजों का प्रयोग किया। आखिर में घरेलू नुस्खे ही सबसे ज्यादा लाभदायक निकले। आज कल लोग बहुत सारे बीमारियों से परेशान हो जाते हैं डॉक्टर वैद्य के चक्कर लगाते हैं। अगर घरेलू नुस्खे को रोजमर्रा के जीवन में अपना लिया जाए, तो बीमारियों से राहत मिल सकती है।

 

चलिए आज जानते हैं 'बेल' के उपयोग घरेलू नुस्खों में।

बेल को भला कौन नहीं जानता?

बेल का फल (Wood Apple) और बेल का वृक्ष (bilva tree) विशेषताओं में अद्भुत है। यह एक भारतीय फल है और प्राचीन ग्रंथों में इसे दिव्य फल कहा गया है। उसका कारण यह है कि यह शरीर विशेषकर पाचन सिस्टम के लिए इतना लाभकारी है, जितना शायद ही दूसरा फल होगा. यह उन विशेष फलों में से एक है, जिसे पूजा भी जाता है। भिन्न स्वाद होने के बावजूद बेल मनमोहक है ।

पहले बेल फल की धार्मिक व आध्यात्मिक विशेषताओं की बात करें तो शिवपुराण सहित अन्य धर्मग्रंथों में फल, वृक्ष और पत्तियों की विशेषताएं वर्णित की गई हैं । भगवान शिव की पूजा, उनका आशीर्वाद और सांसारिक सुख की प्राप्ति के लिए बेल फल व बेलपत्र को उत्तम बताया गया है । धार्मिक ग्रंथों में बेल वृक्ष को साक्षात शिव का स्वरूप कहा गया है। बेल का वृक्ष संपन्नता का भी प्रतीक है ।

सेहत के लिए फायदेमंद है बेल

  1. बेल के कच्चे फल का गुड्डा और आँवले की गुठली का काढ़ा बनाकर सेवन करने से उल्टियां रुक जाती है।
  2. गर्मी के दिनों में बेल का शरबत सुबह रोज पीने से लू नहीं लगता है। कब्ज के गंभीर समस्या से भी राहत मिलती है।
  3. बेल के पत्तों का रस मधु मोह के रोग में बहुत लाभकारी होता है।
  4. बेल के 7 पत्तों को काली मिर्च के साथ, सात बादाम की गिरी के साथ- रात में पानी में भींगो कर रख दे। सुबह इसे पीसकर 100 ग्राम पानी में घोल ले, तथा दिन में दो बार सेवन करने से ब्लड शुगर में बहुत लाभ होता है।
  5. बेल का जूस बनाते वक्त उसमें जो बीज मिलता है उसे निकाल कर अलग से रख लीजिए। उसको धो कर सुखा दीजिए, उसी बीज के साथ मिलने वाली झिल्ली को अगर हम अपने चेहरे पर लगाते हैं तब हमारे चेहरे पर एक निखार आ जाता है। उसी सूखे हुए बीज को हम हल्दी और नमक के साथ भून कर उसका प्रयोग कर सकते हैं, जो की बहुत स्वादिष्ट होता है।
  6. किसी भी तरह के घाव को सुखाने के लिए, घाव को धो लें और उसी जगह पर ताजे पत्ते बांध देने से घाव जल्दी सूख जाएंगे ।
  7. बेल तो गर्मी के मौसम में ही मिलते है, कच्चे बेल को यदि हम मुरब्बा बनाकर रख ले तो उसको साल भर उपयोग में ला सकते हैं।
  8. बेल में कई विटामिन भरे हुए हैं. इसके सेवन से पाचन तंत्र ठीक रहता है, जिससे अपच और कब्ज़ जैसी समस्याओं से प्रभावी राहत मिलती है

प्रकृति ने हमें बहुत सारे ऐसे औषधि वाले वृक्ष दिए हैं अगर हम इन्हें पहचान ले और इनका उपयोग सही तरह से करें तो हम डॉक्टर के चक्करों से बचेंगे और घरेलू उपाय से ही हम सब अच्छे निरोग रहेंगे। प्रकृति को बहुत धन्यवाद कि हमें इस तरह के बहुत सारे औषधि दिए हैं।

चंद्रकला गुप्ता

 

 

 

 

5
(5)

Author

  • Chandrakala Gupta

    मैं एक होममेकर हूं। पढ़ने का शौक हमेशा ही रहा। पौराणिक और अध्यात्मिक विषय की जिज्ञासा हमेशा ज्यादा रही। खाना बनाना और खिलाने का शौक रखती हूं। "लिखने की कोई उम्र नहीं होती, शुरुआत करने की कोई समय नहीं होती"

Click on a star to rate it!

Average rating 5 / 5. Vote count: 5

No votes so far! Be the first to rate this post.

2 Responses

  1. Anonymous says:

    Very useful… looking forward to read more 😇

  2. Anonymous says:

    Very useful tips 👌

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *